1 मई को विशेष रूप से 1886 में आठ घंटे की राष्ट्रव्यापी हड़ताल के उपलक्ष्य में मजदूर दिवस को चिह्नित करने की तारीख के रूप में चुना गया था,

19वीं सदी में संयुक्त राज्य अमेरिका में मजदूर दिवस की उत्पत्ति का पता लगाया जा सकता है। 1 मई को शुरू हुआ और शिकागो यूएस में हेमार्केट मामले के रूप में समाप्त हुआ।

अंतर्राष्ट्रीय श्रम दिवस के बावजूद शिकागो में हेमार्केट मामले के स्मरणोत्सव के लिए इसकी उत्पत्ति का पता लगाने के बाद अमेरिका में मजदूर दिवस सितंबर में पहले सोमवार को मनाया जाता है,

मई दिवस 80 से अधिक देशों में मनाया जाता है। भारत में पहला मई दिवस 1923 में द लेबर किसान पार्टी ऑफ हिंदुस्तान द्वारा चेन्नई (तब मद्रास) में मनाया गया था।

महाराष्ट्र दिवस और गुजरात दिवस दोनों भी 1 मई को मनाया जाता है। कनाडा ने संयुक्त राज्य अमेरिका से 10 साल पहले 1872 में मजदूर दिवस मनाया था।

दुनिया भर के लोग श्रमिकों के अधिकारों के लिए जागरूकता फैलाने और उन्हें शोषण से बचाने के लिए मार्च निकाल कर इस दिन को मनाते हैं।

अमेरिका और कनाडा में सितंबर के पहले सोमवार को मजदूर दिवस मनाया जाता है। मजदूर दिवस की उत्पत्ति संयुक्त राज्य अमेरिका में श्रमिक संघ आंदोलन में हुई थी।

मजदूरों के एक संघ ने 1886 में 16 घंटे के कार्यदिवस के बजाय 8 घंटे के कार्यदिवस के लिए आम हड़ताल की घोषणा की थी।

Read More